दीपावली की हार्दिक शुभकामनायेंजलाओ दिये पर रहे ध्यान इतनाअँधेरा धरा पर कहीं रह न जाएनई ज्योति के धर नये पंख झिलमिल,उड़े मर्त्य मिट्टी गगन-स्वर्ग छू ले,लगे रोशनी की झड़ी झूम ऐसी,निशा की गली में तिमिर राह भूले,खुले मुक्ति का वह किरण-द्वार जगमग,उषा जा न पाए, निशा आ ना पाए।…………………..!

Thanks for visiting My Blog.
Keep Visiting and give your Valuable Comments.

Regards,
Shashi Kumar
Copyright © All rights reserved. http://shashiaansoo.blogspot.com ~ Be Nothing Less Than The Best ™

Advertisements